Latest

एक राखी ज़िंदगी का रुख़ बदल सकती है आज Top 10 Best Rakshabandhan Shayari

[1] ज़िंदगी भर की हिफ़ाज़त की क़सम खाते हुए 
      भाई के हाथ पे इक बहन ने राखी बाँधी 






[2] राखियाँ ले के सिलोनों की बरहमन निकलें 

      तार बारिश का तो टूटे कोई साअत कोई पल 


[3] या रब मिरी दुआओं में इतना असर रहे 

      फूलों भरा सदा मिरी बहना का घर रहे 


[4] किसी के ज़ख़्म पर चाहत से पट्टी कौन बाँधेगा 

      गर बहनें नहीं होंगी तो राखी कौन बाँधेगा 







[5] बहनों की मोहब्बत की है अज़्मत की अलामत 

      राखी का है त्यौहार मोहब्बत की अलामत 


[6] बंधन सा इक बँधा था रग-ओ-पय से जिस्म में 

      मरने के ब'अद हाथ से मोती बिखर गए 


[7] बहन का प्यार जुदाई से कम नहीं होता 

      अगर वो दूर भी जाए तो ग़म नहीं होता 


[8] आस्था का रंग आ जाए अगर माहौल में 

      एक राखी ज़िंदगी का रुख़ बदल सकती है आज 




[9] बहन की इल्तिजा माँ की मोहब्बत साथ चलती है 

     वफ़ा-ए-दोस्ताँ बहर-ए-मशक़्कत साथ चलती है 

No comments