Latest

सजा न देके अदालत बिगाड़ देती है Saza Na Deke Adalatein Bigad Deti Hai

नई हवाओं की सौहवत विगाड़ देती है
कबूतरों को खुली छत बिगाड़ देती है

Nayi Hawao Ki Sauhavat Bigad Deti Hai
Kabutaron Ko Khuli Chhat Bigad Deti Hai

जो जुर्म करते हैं इतने बुरे नहीं होते
सजा न देके अदालत बिगाड़ देती है



Jo Jurm Karte Hai Itne Bure Nhi Hotein
Saza Na Deke Adalatein Bigad Deti Hai

मिलाना चाहा है इंसा को जो भी इंसा से
तो सारे काम सियासत विगाड़ देती है

Milna Chaha Hai Inshan Jo Bhi Inshan Se
To Saare Kaam Siyasat Bigad Deti Hai

हमारे पीर तकीमीर ने कहा था कभी
मियां ये आशिकी इज्जत विगाड़ देती है

Hamare Peer Takimeer Ne Kahan Tha Kabhi
Miyan Ye Aashiqi Izzat Bigad Deti Hai

सियासत में जरूरी है रवादारी समझता है
वो रोजा तो नहीं रखता पर इफतारी समझता है।

Siyasat Me Jaruri Hai Rawadari Samajhata Hai
Wo Roja To Nahi Rakhta Par Ifatari Samajhata Hai

साभार राहत इन्दौरी (Rahat Indori)

No comments