Latest

Top 10 The Best Hindi Love Shayaries

1. खुशबू बनकर तेरी साँसों में समां जायेंगे 
सुकून बनकर तेरे दिल में उतर जायेंगे 
महसूस करने की कोशिश तो कीजिये 
दूर रहते हुए भी पास नजर आएंगे 

Khushbu Banakar Teri Saanso Me Sama Jayenge
Sukun Banakar Tere Dil Me Utar Jayenge
Mehasus Karne Ki Koshish To Kijiyein
Dur Rahate Huye Bhi Paas Nazar Aayenge


2. बड़ी मुद्दत से चाहा है तुझे
बड़ी दुआओं से पाया है तुझे
तुझे भुलाने की सोचूं भी तो कैसे
किस्मत की लकीरों से चुराया है तुझे 

Badi muddat Se Chaha Hai Tujhe
Badi Duao Se Paya Hai Tujhe
Tujhe Bhulane Ki Sochu Bhi To Kaise 
Kismat Ki Lakiro Se Churaya Hai Tujhe


3.  तुझे चाहा भी तो इजहार ना कर सके
कट गई उम्र किसी से प्यार ना कर सके
तूने माँगा भी तो अपनी जुदाई मांगी
एक हम थे की इंकार ना कर सके

Tujhe Chaha Bhi To Izahar Na De Sake
Kat Gayi Umra Kisi Se Puyar Na Kar Sake
Tune Manga Bhi To Apni Judai Mangi
Ek Ham The Ki Inkar Na De Sake


4. हम ना अजनबी हैं ना पराये हैं,
आप और हम एक रिश्ते के साये है,
जब जी चाहे महसूस कर लीजियेगा,
हम तो आपकी मुस्कुराहटों में समाये है



Ham Na Ajanabi Hai Na Paraye Hai
Aap Aur Ham Ek Rishte Ke Saye Hai
Jab Bhi Chahe Mehasus Kar Lijiyega
Ham To Aapki Muskurahaton Me Samaye Hai


5. बेबसी मेरी कभी समझो ज़रा 
दिल मेरा आकर कभी पढ़ा करो ज़रा 
तूने जो दर्द  दिए कैसे सहें हैं हम 
प्यार तुम्हें भी है तो कभी कह दो ज़रा 

Bebasi Meri Kabhi Samjho Jara
Dil Mera Aakar Kabhi Padha Karo Jara
Tune Jo Dard Diye Kaise Sahe Hai Ham
Pyar Tumhe Bhi Hai To KAbhi Kah Do Jara


6. दिल ही दिल में तुम्हें प्यार करते हैं 
चुप-चाप मोहब्बत का इज़हार करते हैं 
ये जानते हुए भी आप मेरी किस्मत में नहीं 
तुम्हे पाने की कोशिश हर बार करते हैं 


Dil Hi Dil Mein Tumhein Pyar Karte Hain, 
Chup-Chap Mohabbat Ka Izhaar Karte Hain, 
Ye Jante Huye Bhi Aap Meri Kismat Mein Nahi, 
Tumhe Paane Ki Koshish Har Baar Karte Hain


7. रोज साहिल से समंदर का नजारा ना करो,
अपनी सूरत को आईने में रोज निहारा ना करो,
आओ देखो मेरी नजरों में उतर कर कभी खुद को,
आइना हूँ मैं तुम्हारा मुझसे किनारा ना करो


Roj Saahil Se Samandar Ka Najara Na Karo,
Apni Soorat Ko Aaine Me Roz Nihara Na Karo,
Aao Dekho Meri Najron Mein Utar Kar Kabhi Khud Ko,
Aaina Hu Main Tumhara Mujhse Kinara Na Karo.


8. तुम्हारे बिन हमें ये जिन्दगी अच्छी नहीं लगती,
सुनो तेरी निगाहों की नमी अच्छी नही लगती,
मुझे हासिल हुई दुनियां की दौलत और सब शोहरत,
मिला सब कुछ मगर तेरी कमी अच्छी नहीं लगती


Tumhare Bin Mujhe Ye Zindagi Achchhi Nahin Lagti,
Suno Tere Nigahon Ki Nami Achchhi Nahi Lagti,
Mujhe Hasil Hui Duniyan Ki Dault Aur Sab Shohart,
Mila Sab Kuchh Magar Teri Kami Achchhi Nahin Lagti


9. अपने हाथों से यूँ चेहरे को छुपाते हो क्यों ?
मुझसे शर्माते हो तो सामने आते हो क्यों ?
तुम भी मेरी तरह कर लो इकरार अब,
प्यार करते हो तो फिर प्यार छुपाते हो क्यों ?


Apne Haathon Se Yun Chehre Ko Chhupate  Ho Kyun ?
Mujh Se Sharmaate Ho Toh Saamne Aate Ho Kyun ?
Tum Bhi Meri Tarah Kar Lo Iqraar Ab
Pyar Karte Ho Toh Phir Pyar Chhupate  Ho Kyun?


10. हम दिल की हर बात जमाने को बता देते हैं,
अपने हर राज से परदा उठा देते हैं,
आप हमें चाहें ना चाहें इसका गिला नहीं,
हम जिसे चाहें उस पर अपनी जान लुटा देते हैं


Ham Dil Ki Baat Zamaane Ko Bata Dete Hain,
Apne Har Raaz Se Parda Uthha Dete Hain,
Aap Humein Chaahe Na Chaahe Iska Gila Nahi,
Hum Jise Chaahe Us Par Apni Jaan Luta Dete Hain




No comments